Independence Day Speeches in English and Hindi for Students.

independence day
CEO
Vishal Bhojane
July 03, 2019


Here we have provided Happy Independence day speech in English and Hindi for students and kids. Students can actively participate in India’s Independence Day celebration using any of the given Independence day speech in 2018.


Speech No1:

Good morning to all my respected teachers, parents and dear friends. Today we have gathered here to celebrate this great national event. As we all know that Independence day is an auspicious occasion for all of us. India’s Independence Day is the most important day for all the Indian citizens and has been mentioned forever in the history. It is the day when we got freedom from the British rule after many years of hard struggle by the great freedom fighters of India

We celebrate Independence Day every year on 15th of August to remember the first day of freedom of India as well as remember all the sacrifices of the great leaders who have sacrificed their lives in getting freedom for India.

India got independence on 15th of August in 1947 from the British rule. After independence, we got our all the fundamental rights in our own Nation, our Motherland. We all should feel proud to be an Indian and admire our fortune that we took birth on the land of an Independent India. History of slave India reveals everything that how our ancestors and forefathers had worked hard and suffered all the brutal behavior of Britishers.

We cannot imagine by sitting here that how hard the independence was for India from the British rule. It took sacrifices of lives of many freedom fighters and several decades of struggle from 1857 to 1947. An Indian soldier (Mangal Pandey) in the British force had first raised his voice against Britishers for the independence of India.

Later several great freedom fighters had struggled and spent their whole life only for getting freedom. We can never forget the sacrifices of the Bhagat Singh, Khudi Ram Bose and Chandra Sekhar Azad who had lost their lives in their early age just for fighting for their country. How can we ignore all the struggles of Netaji and Gandhiji? Gandhiji was a great Indian personality who taught Indians a big lesson of non-violence.

He was the one and only who lead India to get freedom with the help of non-violence. Finally, the result of long years of struggle came in front on 15th of August 1947 when India got freedom.

We are so lucky that our forefathers have given us a land of peace and happiness where we can sleep the whole night without fear and enjoy the whole day in our school or home. Our country is developing very fast in the field of technology, education, sports, finance and various other fields which were almost impossible before freedom. India is one of the countries rich in nuclear power. We are going ahead by actively participating in the sports like Olympics, Commonwealth Games, and Asian games.

We have full rights to chose our government and enjoy the largest democracy in the world. Yes, we are free and have complete freedom, however, we should not understand ourselves free of responsibilities towards our country. As being responsible citizens of the country, we should be always ready to handle any emergency condition in our country.

Jai Hind.


Speech No2:

A very warm good morning to the respected teachers and my dear friends gathered here. Today we are gathered here to celebrate this auspicious occasion of Independence day on 15th of August. We celebrate this day with lots of enthusiasm and joy every year because our country got freedom on this day in 1947 from the British rule. We are here to celebrate the nth number of independence day. It is the great and most significant day for all Indians.

People of India had suffered cruel behavior of Britishers for many years. Today we have freedom in almost all fields such as education, sports, transportation, business, etc just because of the years of struggle of our forefathers. Before 1947, people were not so free even they were restricted to have rights on their own body and mind. They were the slave of Britishers and forced to follow all the orders of them.

Today we are free to do anything because of the great Indian leaders who struggled hard for many years to get freedom against British rule.

Independence day is celebrated all over India with much pleasure. This day is of great importance to all Indian citizens as it gives us an opportunity to remember all those freedom fighters who had sacrificed their lives just for giving us a beautiful and peaceful life. Earlier to the independence, people were not allowed to get the education, eat healthy food and live a normal life like us. We should be grateful to those events responsible for the freedom in India. Indians were treated more badly than slaves by the Britishers just to fulfill their meaningless orders.

Some of the great freedom fighters of India are Netaji Subhash Chandra Bose, Jawahar Lal Nehru, Mahatma Gandhiji, Bal Gangadhar Tilak, Lala Lajpat Ray, Bhagat Singh, Khudi Ram Bose and Chandra Sekhar Azad. They were famous patriots who struggled hard for the freedom of India till the end of their life. We cannot imagine that horrible moment struggled by our forefathers. Now, after many years of independence, our country is on the right track of development.

Today our country is a well established democratic country all over the world. Gandhiji was the great leader who taught us about an effective way of freedom like ahimsa and satyagraha methods. Gandhi dreamed of an independent India with the nonviolence and peace.

India is our mother country and we are its citizens. We should always be ready to save it from the bad people. It is our responsibility to lead our country ahead and make it the best country in the world.

Jai Hind.


स्वतंत्रता दिवस भाषण 1

सभी माननीयों को, आदरणीय अध्यापकगण और मेरे प्यारे सहपाठियों को सुबह का नमस्कार। हमलोग यहाँ पर 69वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने के लिये एकत्रित हुए है। इस खास अवसर पर भाषण देने के लिये मैं बहुत खुश हूँ। मैं अपने क्लास टीचर का बहुत आभारी हूँ जिन्होंने मुझे अपने देश की आजादी पर मेरे विचार रखने के लिये खास मौका प्रदान किया। स्वतंत्रता दिवस के इस खास मौके पर अंग्रेजी शासन से आजादी पाने के लिये भारतीयों के संघर्ष पर भाषण देना चाहूँगा ।

बहुत साल पहले भारत के महान नेताओं ने ‘भाग्यवधु से एक प्रतिज्ञा की थी’ कि वो हमें अपने जीवन के सुखों के त्याग के द्वारा मुक्त और शांतिपूर्ण देश देंगे। आज हम यहाँ बिना किसी डर के और खुशी चेहरों के साथ स्वतंत्रता दिवस मनाने आए है, केवल हमारे बहादुर पूर्वजों की वजह से। हम सोच नहीं सकते कि कितना कठिन होगा वो समय। हमारे पास अपने पूर्वजों को उनके बहुमूल्य कड़ी मेहनत और बलिदान के एवज में देने के लिये कुछ भी नहीं है। हमलोग केवल उनको और कार्यों को याद रख सकते है तथा राष्ट्रीय कार्यक्रमों को मनाने के दौरान उन्हें सलामी दे सकते है। वो हमेशा हमारे दिल में रहेंगे। सभी भारतीय नागरिकों के हँसते चेहरों के साथ स्वतंत्रता के बाद भारत का नया जन्म हुआ ।

ब्रिटीश शासन के शिकंजे से 15 अगस्त 1947 को भारत को स्वतंत्रता मिली। पूरे देश में भारतीय लोग हर साल इस राष्ट्रीय उत्सव को पूरी खुशी और उत्साह के साथ मनाते है। ये सभी भारतीय नागरिकों के लिये एक महान दिन था जब भारतीय तिरंगे को भारत के प्रथम प्रधानमंत्री पंडित जवाहर लाल नेहरु ने नई दिल्ली के लाल किले पर फहराया था ।

हर साल राजपथ पर नई दिल्ली में एक बहुत बड़ा उत्सव मनाया जाता है जहाँ प्रधानमंत्री द्वारा झँडारोहण के बाद राष्ट्रगान गाया जाता है। राष्ट्रगान के साथ 21 बंदूकों की सलामी और हेलिकॉप्टर से तिरंगे पर फूलों की बारिश की जाती है। स्वतंत्रता दिवस के दिन राष्ट्रीय अवकाश होता है हालाँकि हर कोई इसको अपनी जगह से स्कूल, कार्यालय, या समाज में झंडा फहरा कर मनाता है। हमें भारतीय होने पर गर्व होना चाहिये और अपने देश के सम्मान की सुरक्षा के लिये अपना बेहतर योगदान देना चाहिये ।

जयहिन्द ।


स्वतंत्रता दिवस भाषण 2

यहाँ मौजूद मेरे प्यारे दोस्तों और आदरणीय अध्यापकों को सुबह का हार्दिक नमस्कार। 15 अगस्त को स्वतंत्रता दिवस के इस शुभ अवसर को मनाने के लिये हम सब एकत्रित हुए है। ये दिन हमलोग पूरे उत्साह और खुशी के साथ मनाते है क्योंकि इसी दिन ब्रिटीश शासन से 1947 में भारत को आजादी मिली थी। हमलोग यहाँ 69वाँ स्वतंत्रता दिवस मनाने आये है। सभी भारतीयों के लिये ये बहुत ही महान और महत्वपूर्ण दिन है। कई वर्षों तक अंग्रेजों के क्रूर बर्तावों को भारतीय लोगों ने सहन किया। आज हमलोग लगभग सभी क्षेत्रों में आजाद है जैसे शिक्षा, खेल, परिवहन, व्यापार आदि क्योंकि ये केवल हमारे पूर्वजों के संघर्षों की वजह से संभव हो सका। 1947 से पहले, लोगों पर बहुत पाबंदियाँ थी यहाँ तक कि उनका अपने दिमाग और शरीर पर भी अधिकार नहीं था। वो अंग्रेजों के गुलाम थे और उनके हर हुक्म को मानने के लिये मजबूर थे। आज हम कुछ भी करने के लिये आजाद है उन महान भारतीय नेताओं की वजह से जिन्होंने ब्रिटीश शासन के खिलाफ आजादी पाने के लिये कई वर्षों तक कड़ा संघर्ष किया ।

बहुत खुशी के साथ पूरे भारत में स्वतंत्रता दिवस को मनाया जाता है। ये सभी भारतीयों के लिये बेहद महत्वपूर्ण दिन है क्योंकि ये हमें मौका देता है उन महान स्वतंत्रता सेनानीयों को याद करने का जिन्होंने हमें एक शांतिपूर्ण और खूबसूरत जीवन देने के लिये अपने जीवन की कुर्बानी दे दी। आजादी से पहले, लोगों को पढ़ने-लिखने की, अच्छा खाने की और हमारी तरह सामान्य जीवन जीने की मनाही थी। भारत में आजादी के लिये जिम्मेदार उन कार्यक्रमों का एहसानमंद होना चाहिये। अपने अर्थहीन आदेशों की पूर्ति के लिये अंग्रेजों द्वारा भारतीयों के साथ गुलामों से भी ज्यादा बुरा बर्ताव किया जाता था ।

भारत के कुछ महान स्वतंत्रता सेनानी है नेताजी सुभाष चनद्र बोस, गाँधीजी, जे.एल.नेहरु, बाल गंगाधर तिलक, लाला लाजपत राय, भगत सिंह, खुदीराम बोस, चन्द्रशेखर आजाद आदि। ये प्रसिद्ध देशभक्त थे जिन्होंने अपनी जीवन के अंत तक भारत की आजादी के लिये कड़ा संघर्ष किया। हमारे पूर्वजों द्वारा संघर्ष के उन डरावने पलों की कल्पना भी नहीं कर सकते हमलोग। आजादी के वर्षों बाद हमारा देश विकास की सही राह पर है। आज हमारा देश पूरी दुनिया में लोकतांत्रिक देश के रुप में अच्छे से स्थापित है। गाँधी एक महान नेता थे जिन्होंने अहिंसा और सत्याग्रह जैसे आजादी के असरदार तरीकों के बारे में हमें बताया। अहिंसा और शांति के साथ स्वतंत्र भारत के सपने को गाँधी ने देखा ।

भारत हमारी मातृभूमि है और हम इसके नागरिक है। हमें हमेशा इसको बुरे लोगों से बचाने के लिये तैयार रहना चाहिये। ये हमारी जिम्मेदारी है कि हम अपने देश को आगे की ओर नेतृत्व करें और इसे दुनिया का सबसे अच्छा देश बनाये ।

जय हिन्द ।


Back